विद्या संबल योजना 2021 के संबंध में दिशा-निर्देश और प्रक्रिया – जाने क्या है विद्या संबल योजना 2021

जाने क्या है विद्या संबल योजना 2021:- राजस्थान सरकार वित्त (सामान्य वित्तीय एवं लेखा नियम) विभाग, जयपुर के परिपत्र क्रमांक प.6(2)वित्त / साविलेनि /2021, दिनांक 30 मार्च 2021 द्वारा विभिन्न विभागों की ओर से संचालित शिक्षण संस्थानों- विद्यालयों, महाविद्यालयों, आवासीय विद्यालयों एवं छात्रावासों में विषय विशेषज्ञ अनुभवी व्यक्तियों को गैस्ट फैकल्टी के रूप में लेने के लिये “विद्या संबल योजना” के संबंध में निम्नानुसार दिशा-निर्देश और प्रक्रिया निर्धारित की गई है। जो इस प्रकार है-

राजस्थान विद्या संबल योजना 2021

विभिन्न विभागों में शिक्षण कार्यों में शिक्षकों /प्रशिक्षकों के खाली पद होने के कारण नियमित अध्यापन कार्य में व्यवधान उत्पन्न होता है और स्टूडेंट्स के शैक्षिक स्तर पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। इन संस्थानों में अध्यापन व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिए विद्या संबल योजना लागू की जा रही है, जिसके क्रम में निम्नांकित सामान्य निर्देश जारी किए जाते हैं-

योजना के उदेशय

-विभाग की ओर से हर साल शैक्षिक सत्र आरंभ होने से पहले रिक्त पदों का आंकलन किया जायेगा। इन पदों पर नियमित नियुक्ति हेतु अभ्यर्थना तैयार कर भर्ती हेतु निर्धारित प्रक्रिया का पालन करते हुए भर्ती संस्था को भेजी जायेगी। नियुक्ति प्रक्रिया में देरी को देखते हुए विभाग नियमों में प्रावधित अत्यावश्क अस्थाई आधार पर नियुक्ति की प्रक्रिया भी पृथक् से आरंभ कर सकेगा।

-इन दोनों प्रक्रियाओं के पूर्ण होने में लगने वाले समय को ध्यान में रखते हुए विभाग गैस्ट फैकल्टी के जरिये अध्यापन कार्य निम्न निर्देशों का पालन करते हुए करा सकेंगे।

-गैस्ट फैकल्टी सिर्फ स्वीकृत खाली पद के विरूद्ध ली जा सकेगी, विभाग का मुख्यालय जिलेवार और संस्थावार गैस्ट फैकल्टी की आवश्यकता का आंकलन कर प्रत्येक जिला मुख्यालय पर विभाग का नोडल अधिकारी मनोनीत कर, यह विवरण नोडल अधिकारी को उपलब्ध करायेगा।

-संबंधित सेवा नियमों में अंकित योग्यता आदि की पात्रता रखने वाले सेवानिवृत कार्मिक /निजी अभ्यार्थियों को गैस्ट फैकल्टी के रूप में लगाया जा सकेगा।

गैस्ट फैकल्टी/चयन प्रक्रिया-

संस्थान प्रधान सीधे ही अपने स्तर पर संस्था में खाली चल रहे पदों पर संबंधित सेवा नियमों में अंकित योग्यता आदि की पात्रता रखने वाले सेवानिवृत्त कार्मिक/निजी स्टूडेंट्स का परिपत्र में वर्णित दरों पर बजट उपलब्धता की शर्त के अध्यधीन गैस्ट फैकल्टी रख सकेंगे।

गैस्ट फैकल्टी हेतु देय मानदेय की दरें-

पद(अध्यापक/प्रशिक्षक) कक्षाप्रति घंटा मानदेयअधिकतम मासिक मानदेय
ग्रेड-।।।1 से 8300 /-21000 /-
ग्रेड-।।9 से 10350/-25000 /-
ग्रेड-।11 से 12400/-30000 /-
अनुदेशक 300 /-21000/-
प्रयोगशाला सहायक 300 /-21000/-

विश्वविद्यालय/महाविद्यालय/तकनीकी महाविद्यालय/पॉलिटेक्निक कॉलेज-

पदप्रति घंटा मानदेयअधिकतम मासिक मानदेय
सहायक आचार्य800/-45000/-
सह आचार्य1000/-52000/-
आचार्य1200/-60000/-

-गैस्ट फैकल्टी की सेवाएं लिये जाने हेतु विभाग की ओर से समुचित शर्तों का समावेश करते हुए संलग्न प्रारूप अनुसार शपथ-पत्र लिया जाना सुनिश्चित किया जावेगा।

-गैस्ट फैकल्टी के कार्य की प्रॉपर मॉनिटरिंग की व्यवस्था कर उनके संतोषजनक कार्य सत्यापन के आधार पर भुगतान की कार्यवाही की जावेगी।

– खाली पद भरे जाने पर उपरोक्त व्यवस्था स्वतः समाप्त समझी जावेगी।

-चूंकि छात्रावासों में शिक्षकों के पद सृजित नहीं होते हैं, अतः छात्रावासों में कठिन विषयों की कोचिंग के लिए खाली पदों संबंधी बाध्यता नहीं होगी। कोचिंग के लिए संस्था प्रधान सीधे ही अपने स्तर से या उक्त चयन प्रक्रिया का पालन करते हुए इस हेतु उपलब्ध बजट प्रावधान सीमा तक तथा ऊपर वर्णित दरों के अनुसार भुगतान कर सकेंगे।

राजस्थान विद्या संबल योजना 2021 ऑफिसियल अधिसूचना

Leave a Comment