राजस्थान मकान भूमि का पट्टा बनाने के लिए ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म @ rajpanchayat.rajasthan.gov.in

Rajasthan Bhoomi Patta:- नमस्कार दोस्तों आज के इस लेख में हम आपको राजस्थान की सरकारी योजना “भूमि का पट्टा या मकान का पट्टा के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। राज्य सरकार ने इस योजना को अपने राज्य के भूमिहीन लोगों के लिए शुरू किया हैं।

Rajasthan Bhoomi Patta

गौरतलब है कि तहसील क्षेत्रों के गाँव की आबादी भूमि राजस्थान सरकार के अकाउंट में दर्ज हो गयी थी। तहसील क्षेत्रों के गांव में पुर्व में आबादी भूमि राज्य सरकार के खाते में दर्ज होने के कारण ग्रामीण पंचायतों में पट्टा लेने से वांछित रहे गए थे,

Rajasthan Bhoomi Patta

 और कलेक्टर द्वारा सरकार के खाते में दर्ज भूमि को आबादी भूमि में दर्ज कराने से ग्राम पंचायत को पट्टा देने का पूर्ण अधिकार मिल गया है। जिन ग्रामीण लोगों ने पट्टा ले लिया हैं। वह 3 माह के भीतर तहसील में जाकर रजिस्ट्री करा ले। 

राजस्थान मकान भूमि का पट्टा Online Process

राजस्थान सरकार द्वारा बहुत वर्षो बाद आबादी भूमि के पट्टे वापस किये जा रहे हैं। सरकार कि ओर से जारी पट्टों पर ग्रामवासी लेमिनेशन न कराएं और तहसील में जाकर 3 महीनों के भीतर अपने पट्टों की रजिस्ट्री करवा ले। राज्य के नागरिक राजस्थान भूमि पट्टा योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन फॉर्म प्राप्त कर सकते हैं।

इस लेख के माध्यम से हम आपको मकान का पट्टा, पट्टा कैसे बनाये और एप्लीकेशन फॉर्म कैसे डाउनलोड करें के बारे में जानकारी प्राप्त करा रहे है। कृपया इस लेख को ध्यानपूर्वक अंत तक पढ़े।

राजस्थान भूमि पट्टा के नियम –

पहला नियमराजस्थान सरकार ने पंचायती राज नियम 1996 के तहत नियम 157 के अंतर्गत वर्ष 1996 तक आबादी भूमि पर निर्मित मकानों के नियमन और पट्टा जारी करने का नियम है।
दूसरा नियमराज्य के गांवों में बहुत से ऐसे परिवार जिनके पास कोई भूमि या मकान नहीं है और उन लोगों ने वर्ष 2003 तक कोई झोंपड़ी या कच्चा मकान आबादी भूमि पर बना लिया है, नियम 157-(2) के अंतर्गत उन लोगों को 300 वर्गगज़ तक की भूमि फ्री प्रदान कर दी जाएगी और परिवार की महिला मुखिया के नाम इसका पट्टा जारी किया जायेगा। वहीं बाद में उसी के नाम पर भूमि की रजिस्ट्री की जाएगी।
तीसरा नियमराजस्थान पंचायती राज अधिनियम 1996 के नियम 158 के तहत राजस्थान के ग्रामीण क्षेत्रों के कमज़ोर वर्गो के परिवारों को पंचायत के की ओर से 300 वर्ग गज़ तक की भूमि रियायती दरों पर (2-10 रूपये प्रति वर्ग मीटर) के आधार पर प्रदान की जाएगी।
चौथा नियमराजस्थान सरकार पंचायती अधिनियम 158-(2) तहत गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को भूमि का निःशुल्क बँटवारा करने का अधिकार पंचायतों को ही दे दिया है। पहले यह अधिकार राज्य सरकार में निहित था।

Rajasthan Bhoomi Patta के लिए Online आवेदन फॉर्म-

सबसे पहले ऑफिसियल वेबसाइट (http://rajpanchayat.rajasthan.gov.in/) पर क्लिक करें।

फिर होम पेज खुल जायेगा।

इस पेज पर एप्लीकेशन फॉर्म के विकल्प पर क्लिक करे।

आवासीय भूमि का पट्टा हेतु आवेदन पत्र PDF डाउनलोड करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें।

अब स्क्रीन पर आवासीय भूमि पट्टे का आवदेन फॉर्म दिखाई देगा।

इस फॉर्म में पूछी गयी जानकारियां को भरें और विभाग में फॉर्म को जमा कर दें।

इस तरह से आवेदन कर सकते है।

Apply online for Rajasthan Bhoomi Patta

Leave a Comment