PM Svamitva Yojana 2021 Online Registration & Procedure @ swamitva.nic.in

PM Swamitva Yojana  2021:- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 अप्रैल 2020 को स्वामित्व योजना का शुभारंभ किया था। यह एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना है। स्वामीत्व योजना ड्रोन और नवीनतम सर्वेक्षण विधियों का उपयोग करके ग्रामीण आबाद भूमि का नक्शा बनाने में मदद करती है। यह योजना सुव्यवस्थित नियोजन, राजस्व संग्रह सुनिश्चित करेगी और ग्रामीण क्षेत्रों में संपत्ति के अधिकारों पर स्पष्टता प्रदान करेगी। इससे मालिकों द्वारा वित्तीय संस्थानों से ऋण के लिए आवेदन करने के रास्ते खुल जाएंगे। संपत्ति से संबंधित विवादों को भी इस योजना के माध्यम से आवंटित उपाधि के माध्यम से सुलझाया जाएगा।

योजना के कार्यान्वयन के लिए पंचायती राज मंत्रालय (MoPR) नोडल मंत्रालय है। राज्यों में, राजस्व विभाग / भूमि अभिलेख विभाग नोडल विभाग होगा और राज्य पंचायती राज विभाग के सहयोग से इस योजना को आगे बढ़ाएगा। भारत का सर्वेक्षण कार्यान्वयन के लिए प्रौद्योगिकी भागीदार के रूप में काम करेगा। पीएम स्वामित्व योजना ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया शुरू है। लोग स्वमित्व योजना आवेदन पत्र भर सकते हैं और अपने संपत्ति कार्ड तैयार करने के लिए लॉगिन कर सकते हैं, अंतिम नक्शे तैयार कर सकते हैं, ड्रोन सर्वेक्षण स्थिति, कार्यक्रम और अन्य चीजें देख सकते हैं।

इसके अलावा, Google playstore से डाउनलोड करने के लिए PM Swamitva Scheme App भी उपलब्ध है। इस लेख में, हम आपको इस भूमि सीमांकन योजना के पूर्ण विवरण के बारे में बताएंगे। सभी उम्मीदवार जो ऑनलाइन आवेदन करने के इच्छुक हैं तो आधिकारिक अधिसूचना डाउनलोड करें और सभी पात्रता मानदंड और आवेदन प्रक्रिया को ध्यान से पढ़ें।

PM Swamitva Yojana  2021:-

PM Svamitva Yojana 2021

स्‍वामित्‍व योजना 2021 – अवलोकन

योजना का नामप्रधानमंत्री स्वामित्व योजना
द्वारा लॉन्च किया गयापीएम नरेंद्र मोदी
लाभार्थीभारत के नागरिक
प्रमुख लाभआसानी से किसानों को मिलेगा कर्ज
योजना का उद्देश्यदेश भर के पंचायती राज संस्थानों (PRI) में ई-गवर्नेंस को मजबूत करना
राज्य का नामसम्पूर्ण भारत
पद श्रेणीयोजना/ स्कीम
आधिकारिक वेबसाइटhttps://svamitva.nic.in/svamitva/

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना 2021 के बारे में-

PM Swamitva Yojana  2021:- प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना 2021 शुरू की है। यह ग्रामीण भारत के लिए एक एकीकृत संपत्ति मान्यता समाधान है। अब ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोग अपने गाँव की संपत्ति पर बैंकों से पीएम स्वामीत्व योजना के तहत ऋण ले सकते हैं। ड्रोन सर्वेक्षण तकनीक का उपयोग कर ग्रामीण आबदी क्षेत्रों का सीमांकन किया जाएगा।

इससे गाँवों में बसे हुए ग्रामीण क्षेत्रों में घरों में रहने वाले गाँव के घरेलू मालिकों को rights अधिकारों का रिकॉर्ड ’प्रदान किया जाएगा, जो बदले में, उन्हें बैंक से ऋण लेने और अन्य वित्तीय लाभ के लिए एक वित्तीय संपत्ति के रूप में अपनी संपत्ति का उपयोग करने में सक्षम करेगा।

इस योजना के तहत प्रधानमंत्री मोदी ने एक नये ई-ग्राम स्वराज पोर्टल की शुरुआत की है। इस पोर्टल पर ग्राम समाज से जुड़ी सभी समस्याओं की जानकारी रहेगी और इस पोर्टल के माध्यम से किसान अपनी भूमि की जानकारी ऑनलाइन देख सकेंगे पंचायती राज मंत्रालय ने Gram Swaraj Portal की शुरुआत की है |

स्‍वामित्‍व योजना ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया-

ई-ग्राम स्वराज पोर्टल ग्राम पंचायतों के पूर्ण डिजिटलीकरण की दिशा में एक कदम है और भविष्य में, यह एकल मंच बन जाएगा, जो ग्राम पंचायतों द्वारा उठाए गए सभी कार्यों का रिकॉर्ड रखेगा। विकास कार्यों के सभी विवरण, उनके लिए आवंटित धन, यह सारा डेटा पोर्टल पर उपलब्ध होगा। और इस मंच के माध्यम से ग्रामीण अपने मोबाइल फोन पर सभी डेटा का उपयोग कर पाएंगे जो पारदर्शिता बढ़ाएगा।

स्वामीत्व योजना कैसे काम करेगी?

  • ‘स्वामित्व’ योजना के तहत, आवासीय भूमि को ड्रोन के माध्यम से मापा जाएगा।
  • ड्रोन गांव की सीमा के भीतर हर संपत्ति का एक डिजिटल नक्शा बनाएगा।
  • साथ ही, हर राजस्व ब्लॉक की सीमा भी तय की जाएगी।
  • कौन सा घर किस क्षेत्र में है, इसे ड्रोन तकनीक द्वारा सटीक रूप से मापा जा सकता है।
  • राज्य सरकारें गाँव के हर घर के लिए एक प्रॉपर्टी कार्ड बनाएंगी।

पीएम स्वामित्व योजना का लाभ-

इस योजना से सभी ग्राम संपत्तियों की मैपिंग करके ग्रामीण क्षेत्रों का तेजी से विकास किया जा सकेगा।

ड्रोन प्रत्येक भारतीय गांव की भौगोलिक सीमा में आने वाली प्रत्येक संपत्ति का डिजिटल नक्शा तैयार करेंगे।

प्रॉपर्टी कार्ड तैयार कर संबंधित मालिकों को दिये जायेंगे।

यह योजना संपत्ति के विवादों को कम करने में सहायता करेगी।

इससे ग्रामीणों को बैंक ऋण लेने में आसानी होगी।

इस योजना के तहत ड्रोन सर्वेक्षण तकनीक की मदद से गांव के सीमांकित क्षेत्रों का सीमांकन किया जाएगा।

संपत्ति कार्ड-

पीएम मोदी के अनुसार, ग्रामीण भारत का डिजिटल नक्शा तैयार होने के बाद, आवासीय संपत्ति के मालिकों को राज्य सरकार द्वारा एक संपत्ति कार्ड जारी किया जाएगा। जिसके आधार पर लोग बैंक से कर्ज ले सकेंगे। साथ ही, यह संपत्ति कर के अंतर्गत आएगा। हालाँकि, यह योजना शुरू में यूपी, महाराष्ट्र, कर्नाटक हरियाणा, मध्य प्रदेश और उत्तराखंड में शुरू की गई है।

ग्राम स्वराज पोर्टल/ऐप क्या है?

Egramswaraj.gov.in पोर्टल एक एकल इंटरफ़ेस है जिस पर विवरण पंचायत वार सूचीबद्ध किया जाएगा। मंच ग्राम पंचायती विकास योजना (जीपीडीपी) के तहत प्रत्येक ग्राम पंचायत में योजना बनाने से लेकर कार्यान्वयन तक के कार्य उपलब्ध कराएगा।

ऑनलाइन स्वामिता योजना आवेदन फॉर्म 2021 को लागू करने की प्रक्रिया-

1- आधिकारिक वेबसाइट स्वामितवा योजना यानी https://egramswaraj.gov.in/ पर जाएं।

2- मुखपृष्ठ पर, विकल्प “नया पंजीकरण” बटन पर क्लिक करें।

3- पंजीकरण फॉर्म पृष्ठ स्क्रीन पर प्रदर्शित किया जाएगा।

4- अब आवश्यक विवरण जैसे कि बुनियादी विवरण, मोबाइल नंबर और मेल आईडी दर्ज करें।

5- आवेदन के अंतिम सबमिशन के लिए सबमिट बटन पर क्लिक करें और अपने डिवाइस में अपनी साख प्राप्त करें।

पोर्टल पर लॉगइन करने की प्रक्रिया-

सबसे पहले योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाये जो https://svamitva.nic.in/svamitva/ ये है।

अब होम पेज पर आप लॉगइन के विकल्प पर क्लिक करे।

इसके बाद लॉगइन पेज खुल जायेगा।

इसमें अपना फोन नंबर, पासवर्ड और कैप्चा कोड भरे।

इसके बाद लॉगिन पर क्लिक करे।

इस तरह से आप पोर्टल पर लॉगिन कर पायेंगे।

eGram Swaraj Portal

official website

Leave a Comment