Kusum Yojana 2021 Online Registration : प्रधानमंत्री कुसुम योजना Benefits

Kusum Yojana 2021 Online Registration :- जैसा की आपको मालूम होगा देश में किसानों को सिंचाई में बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है और अधिक या कम बारिश की वजह से इनकी फसलें खराब हो जाती हैं। इसी को देखते हुए केंद्र की मोदी सरकार ने फ़रवरी 2019 में कुसुम योजना शुरू की गई थी। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कुसुम योजना की घोषणा की थी। इस योजना के जरिये किसान अपनी जमीन में सौर ऊर्जा उपकरण और पंप लगाकर अपने खेतों की सिंचाई कर सकते हैं।

PM Kusum Yojana 2021

कुसुम योजना का उद्देश्य-

कुसुम योजना की सहायता से किसान अपनी भूमि में सौर ऊर्जा उपकरण और पंप लगाकर अपने खेतों की सिंचाई कर सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत किसानों, पंचायत, सहकारी समितियों का समूह सोलर पंप लगाने के लिए आवेदन कर सकता है। बता दें कि इसमें शामिल कुल लागत को तीन भागो में बांटा गया है जिसमें सरकार किसानों की मदद करेगी। किसानों को सरकार 60 फीसदी की सब्सिडी प्रदान करेगी जबकि लागत का 30 प्रतिशत लोन के रूप में सरकार की ओर से दिया जाएगा। किसानों को केवल प्रोजेक्ट की कुल लागत का 10 प्रतिशत देना होगा। वहीं सोलर पैनल से पैदा होने वाली बिजली को किसान सरकारी या गैर सरकारी बिजली विभागों में बेच सकता है। बिजली बेचने के बाद प्राप्त धन का उपयोग नए करोबार को शुरू करने के लिए किया जा सकता है। बता दें कि पहले चरण में डीजल पंपों को बदला जायेगा। 

कुसुम योजना के तीन भाग – Kusum Yojana 2021 Online Registration

भाग पहला

केंद्र सरकार की इस योजना के अंतर्गत, मजदुर 10,000 मेगावाट विकेंद्रीकृत नवीकरणीय ऊर्जा संयंत्रों की स्थापना करेंगे, जो बंजर भूमि पर ग्रिड से जुड़े हैं। ये ग्रिड किसानों, सहकारी समितियों, किसानों के समूह, पंचायतों, जल उपयोगकर्ता संघों (WUA) और किसान उत्पादक संगठनों (FPO)  से स्थापित किए जाएंगे। बिजली परियोजनाओं को उप-स्टेशन के 5 किलोमीटर के दायरे में स्थापित किया जाएगा।

Part 2nd

किसानों को इस योजना के तहत सौर कृषि पंप स्थापित करने के लिए 17.50 लाख रूपये का फण्ड दिया जाएगा। बता दें कि मौजूदा डीज़ल कृषि पंपों को बदलने के लिए पंपों की क्षमता 7.5 एचपी तक होगी। पंपों की क्षमता 7.5 एचपी से ज्यादा हो सकती है लेकिन आर्थिक सहायता केवल 7.5 एचपी की क्षमता के लिए ही दी जाएगी।

Kusum Yojana 3rd Part

यह योजना 100000 ग्रिड से जुड़े कृषि पंपों के सोलराइज़ेशन के लिए है। अलग-अलग किसानों को ग्रिड पंप के लिए सोलराइज़ पंपों के लिए फण्ड दिया जाएगा। पूर्व निर्धारित टैरिफ पर भारत की वितरण कंपनियों को अतिरिक्त सौर ऊर्जा बेची जाएगी। वहीं किसान की सिंचाई की ज़रूरतों को उत्पादित सौर ऊर्जा का उपयोग करके पूरा किया जाएगा।

Kusum yojana online registration 2021

Kusum Yojana 2021 Online Registration Important Documents

आधार कार्ड

पासपोर्ट साइज फोटो

आय प्रमाण पत्र

बैंक अकाउंट पासबुक

मोबाइल नंबर

एड्रेस प्रूफ

ऐसे करे कुसुम योजना में आवेदन

सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट http://rreclmis.energy.rajasthan.gov.in/kusum.aspx or https://mnre.gov.in/ पर जाये।

आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा |

अब आपको होम पेज पर पंजीकरण Online Registration का विकल्प नजर आयेग। इस विकल्प पर क्लिक करे।

इसके बाद आवेदन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी भरे।

अब सबमिट बटन पर क्लिक करे।

बता दें कि सफल पंजीकरण होने के बाद चयनित लाभार्थियों को सौर पंप सेट की 10 प्रतिशत लागत में विभाग की ओर से अनुमोदित आपूर्तिकर्ताओं को जमा करने के लिए निर्देशित किया जाता है। जिसके बाद कुछ ही दिनों में खेतो में सौर ऊर्जा उपकरण लगा दिए जायेगे।

कुसुम योजना के प्रमुख लाभ-

इस योजना के ज़रिए किसानों को बिजली की बचत होगी।

सिंचाई वाले पंप सौर ऊर्जा से चलने के कारण खेती में बढ़ोत्तरी होगी।

इस योजना के द्वारा डीज़ल की खपत कम हो पाएगी।

किसानों को सिंचाई के लिए मुफ्त में बिजली प्राप्त होगी।

गरीब किसान भी अपने खेतों की अच्छी सिंचाई कर के अच्छी फसल की पैदावर कर पाएँगे।

कुसुम योजना के लिए सरकार की तैयारी-

देश में वर्ष 2022 तक कुसुम योजना के तहत 3 करोड़ सिंचाई पंप को बिजली या डीजल की जगह सौर ऊर्जा से चलाने की कोशिश की जायेगी। सरकार की ओर से तय बजट के अनुसार से इस योजना पर कुल 1.40 लाख करोड़ रुपये  खर्चा आयेगा। केंद्र सरकार कुसुम योजना पर आने वाले कुल खर्च में से 48,000  करोड़ रुपये की सहायता करेगी, जबकि राज्य सरकार भी इतनी ही राशि देगी। कुसुम योजना के तहत किसानों को सौर ऊर्जा पंप की कुल लागत का केवल 10 प्रतिशत खर्च ही उठाना होगा। इस योजना के लिए बैंक लोन के द्वारा करीब 45,000 करोड़ रुपये का इंतजाम किया जाएगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार केंद्र सरकार सौर ऊर्जा पंप स्कीम का विस्तार करने के साथ ही आर्थिक सहायता राशि में बढ़ोतरी की घोषणा कर सकती है।  किसानों की आमदनी बढ़ाने और उनकी ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने के लिए आगामी बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण कुछ बड़ी घोषणाओं का ऐलान कर सकती हैं। देशभर के करीब 20 लाख किसानों को सरकार आर्थिक मदद देने का लक्ष्य बनाया है जिसके तहत सब्सिडी की राशि में 30% की बढ़ोतरी का ऐलान हो सकता है।

Online registration for Kusum Yojana

Leave a Comment