Haj Yatra 2021- सऊदी अरब सरकार ने जारी की गाइडलाइन, इस बार 18 से 60 साल वाले ही जा सकेंगे हज पर

Haj Yatra 2021- पुरे विश्व में कोरोना फैला हुआ है और हर रोज संक्रमण के नए मामले सामने आ रहे हैं। दुनियाभर में कुल केस 17 करोड़ के पार पहुंच गए हैं और अब तक 35 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं इस वायरस 128,549,571 लोग ठीक हो चुके हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले अमेरिका, ब्राजील और भारत में आये हैं।

Haj Yatra 2021

Haj Yatra 2021 और सऊदी अरब सरकार की गाइडलाइन

कोरोना महामारी के चलते सऊदी सरकार ने इस बार अन्य देशों के हज यात्रियों (Haj Yatra 2021) के हज की अनुमति दे दी है। और नई गाइडलाइंस जारी की है। हज कमेटी ऑफ इंडिया (Haj Committee of India) के CEO डॉक्टर मकसूद अहमद खान के अनुसार सऊदी सरकार ने यह एलान किया है कि इस वर्ष दूसरे देशों से आने वाले महज़ 45,000 लोग ही हज (Haj Yatra 2021) कर सकेंगे।

हज यात्रा 2021 के नए नियम

अहमद ने बताया कि किस देश से कितने यात्री हज (Haj Yatra 2021) के सफर पर जा सकेंगे, अभी इसकी जानकारी नहीं मिली है। भारत के कोटे की जानकारी एक हफ्ते के अंदर मिल जायेगी। नई गाइडलाइंस के अनुसार कोविशील्ड की दोनों डोज लेने वाले व्यक्ति ही हज पर इस वर्ष जा सकेंगे। इसके साथ ही 18 से 60 वर्ष के बीच के लोग ही हज पर जा सकेंगे।

पिछले छह महीने में जिस व्यक्ति को कोई बीमारी नहीं हुई होगी और अस्पताल में अगर नहीं भर्ती हुए होंगे, तब ही हज पर सऊदी अरब जाने की इजाज़त मिलेगी। गत वर्षों में करीब 70 लाख से ज्यादा यात्री हज के लिए जाते थे। भारत से तकरीबन दो लाख आजमीन हज यात्रा को जाते थे, लेकिन पिछले साल कोरोना महामारी के चलते भारत की हज यात्रा (Haj Yatra)रद कर दी गई थी।

सऊदी में पिछले साल करीब दस हजार लोगों ने हज यात्रा की थी। इस वर्ष सऊदी सरकार ने उन्हीं देशों के लिए इजाजत दी है, जिन देशों के बीच उड़ान (Flight) का आना जाना बंद नहीं है।

हजयात्रियों को इन नियमों का पालना करना जरूरी-

  • यात्रा से 14 दिन पूर्व वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने का प्रमाण पत्र आवश्यक।
  • यात्रा से पूर्व RTPCR टेस्ट नेगेटिव होना जरूरी होगा।
  • छः माह में अस्पताल में भर्ती नहीं रहने या स्वास्थ्य प्रमाण पत्र जरूरी।
  • सऊदी अरब पहुंचने के बाद यात्री को 3 दिन क्वारेंटाइन रहना होगा।
  • हजयात्रा के दौरान मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करना अतिआवश्यक होगा।
  • साथ ही बाद में भी कोई गाइडलाइंस तय की जाती है तो उसकी सख्ती से पालना होनी चाहिए।

Website

Hajj 2021 application form

Leave a Comment