प्राथमिक शिक्षक सेवा नियमावली की गई संशोधित

शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने उक्त संसोधन में बीएड टेट महासंघ की मांगों को अनदेखा करते हुए विगत 25 वर्षों से गतिमान प्रक्रिया में संसोधन करते हुए प्रदेश के हजारों बीएड प्रशिक्षित बेरोजगारों को हतोत्साहित कर दिया।

प्राथमिक शिक्षक सेवा नियमावली 2012 में प्राथमिक सहायक अध्यापक के लिये राज्यस्तरीय बीएड प्रशिक्षण वर्ष (जेष्टता तथा श्रेष्ठता ) चयन प्रक्रिया का प्रावधान किया गया था उक्त चयन प्रक्रिया उत्तराखण्ड राज्य के गठन से पूर्व 1995 गतिमान थी मगर 14 दिसम्बर की कैबिनेट बैठक में प्राथमिक शिक्षक सेवा नियमावली में संसोधन करते हुए प्राथमिक सहायक अध्यापक के लिए चयन प्रक्रिया में जनपद स्तरीय TET श्रेष्ठता करके प्रदेश के हजारों बीएड अभ्यर्थियों के भविष्य को अंधकार में डाल दिया है। जिससे नौकरी की आस लगाये बीएड टीईटी उत्तीर्ण अभ्यर्थी सदमे में हैं ।

कैबिनेट के उक्त निर्णय के कारण आक्रोशित बीएड प्रशिक्षित बेरोजगारों ने माननीय शिक्षामंत्री जी के आवास पहुँचकर उनसे वार्ता की तथा माननीय शिक्षामंत्री जी ने महासंघ की मांगों का संज्ञान लेते हुए जल्द ही इस संबंध में अधिकारियों से वार्ता करने का सकारात्मक आश्वासन दिया ।

माननीय शिक्षामंत्री जी से मुलाकात के उपरांत प्रदेश के विभिन्न जनपदों से आये हुए सैकड़ों बीएड प्रशिक्षित बेरोजगारों ने उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत जी, बाल विकास मंत्री रेखा आर्य जी, यमुनोत्री विधायक केदार सिंह रावत जी से भी मुलाकात की तथा सभी को अपनी पीड़ा से अवगत कराते हुए अनुरोध किया की 14 दिसंबर की कैबिनेट बैठक में प्राथमिक शिक्षक सेवा नियमावली में किये गए संसोधन को अतिशीघ्र निरस्त करते हुए उक्त नियमावली में पूर्व वर्षों की भांति बीएड प्रशिक्षितों को बीएड प्रशिक्षण वर्ष की जेष्टता के आधार पर प्राथमिक शिक्षक सेवा नियमावली में सम्मिलित करते हुए संसोधित नियमावली का शासनादेश अतिशीघ्र जारी करें ।

इसके उपरांत प्रदेश के विभिन्न जनपदों से पंहुचे सैकड़ों बीएड प्रशिक्षित बेरोजगारों ने आज शिक्षा निदेशालय पंहुचकर 14 दिसंबर के कैबिनेट के फैसले पर अपना विरोध जताते हुए शासन तथा प्रशासन के खिलाफ अपना आक्रोश दर्ज कराया ।

शिक्षा निदेशालय में आज बीएड टेट महासंघ की एक महत्वपूर्ण बैठक का भी आयोजन किया गया जिसमे प्रदेश भर से पंहुचे बीएड प्रशिक्षितों ने राज्य सरकार के निर्णय के खिलाफ अपना विरोध जताने के लिए आगामी दिनों में निम्न कार्यक्रमों के आयोजन का निर्णय लिया ।

18 दिसंबर- शिक्षा निदेशालय में शासन तथा प्रशासन के लिए बुद्धि शुद्धि यज्ञ तथा निदेशालय में सफाई अभियान ।

19 दिसंबर- प्रातः 9.00 बजे माननीय शिक्षामंत्री आवास यमुना कॉलोनी में माननीय शिक्षामंत्री जी से मुलाकात ।

20 दिसंबर- भूख हड़ताल का शुभारंभ तथा रात्रि 6.00 बजे गांधी पार्क से घंटाघर तक सभी बीएड प्रशिक्षित कैंडल मार्च निकालकर अपना रोष व्यक्त करेंगे । ।

21 दिसंबर- शिक्षा निदेशालय में तालाबंदी ।

22 दिसंबर- माननीय शिक्षामंत्री जी माननीय मुख्यमंत्री जी माननीय प्रधानमंत्री जी माननीय राज्यपाल जी तथा माननीय राष्ट्रपति जी को खून से पत्र लिखकर सभी बेरोजगार को स्वैछिक मृत्यु देने के लिए अनुरोध करेंगे ।

23 दिसंबर- बीएड टेट का ठेला लगा कर पकोड़े तलकर बेचेंगे ।

24 दिसंबर- सचिवालय कूच ।

25 दिसंबर- प्रातः 11.00 बजे गांधी पार्क से घंटाघर तक सभी बीएड प्रशिक्षित भीख मांग कर अपना रोष व्यक्त करेंगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *