राज्यपाल ने किया ललित शौर्य के बाल कहानी संग्रह का लोकार्पण

ललित शौर्य संभावनाओं के लेखक: राज्यपाल

(उत्तराखण्ड मिरर)

उत्तराखंड के युवा बाल साहित्यकार ललित शौर्य के बाल कहानी संग्रह दादाजी की चौपाल का विमोचन महामहिम राज्यपाल बेबीरानी मौर्य द्वारा किया गया।  यह कार्यक्रम राजभवन में सम्पन्न हुवा। राज्यपाल बेबीरानी मौर्य ने कहा ललित संभावनाओं के लेखक हैं। उनसे अभी और अधिक अपेक्षा की जा सकती है। उनका यह कहानी संग्रह बच्चों को बहुत ज्यादा आकर्षित करेगा। इस कहानी संग्रह में बच्चों को सीखने के लिए बहुत कुछ है।

ललित शौर्य ने कहानी संग्रह के बारे में बताते हुए कहा कि दादाजी की चौपाल कहानी संग्रह में 19 बाल कहानियां हैं। प्रत्येक कहानी बच्चों को एक अच्छी शिक्षा देती है। वर्तमान समय की समस्याओं जैसे बच्चों का अत्यधिक मोबाइल चलाना, फास्टफूड और जंकफूड सेवन इन विषयों पर भी कहानी के माध्यम से बच्चों को प्रेरणा देने का काम किया गया है। बच्चों की दृष्टि से भाषा को सरल एवं बोधगम्य बनाने का प्रयास किया गया है। ललित शौर्य का इससे पूर्व  एक कविता संग्रह प्रकाशित हो चुका है। उन्होंने छ: किताबों का संपादन भी किया है।

विशेष :- ललित अब तक दो सौ से अधिक बाल कहानियाँ लिख चुके हैं। उनकी कहानियाँ चंपक, नंदन, देवपुत्र, बालभूमि, बाल भास्कर, बालप्रभात आदि राष्ट्रीय पत्रिकाओं में नियमित रूप से प्रकाशित हो रही हैं।

अनुवाद:- ललित शौर्य की बाल कहानियों का अनुवाद अंग्रेजी,गुजराती,तेलगु,कन्नड़, मराठी भाषाओं में भी हो चुका है। इसके आलावा शौर्य व्यंग्य, लघु कथा और कविताएं भी लिखते हैं।

सम्मान: ललित शौर्य को सारस्वत सम्मान, हिन्दी भूषण सम्मान, ध्रुव सम्मान, साहित्य सृजन सम्मान, पर्यावरण मारतंड समेत अनेक साहित्यिक सम्मान मिल चुके हैं।

प्रकाशनाधीन पुस्तकें: ललित शौर्य के 3 बाल कहानी संग्रह, 2 कविता संग्रह, 1 बाल पहेली संग्रह, 1 लघु कथा संग्रह, 1 व्यंग्य संग्रह प्रकाशनाधीन हैं। जो बहुत जल्द प्रकाशित होंगे।

कार्यक्रम में अखिल भारतीय उत्तराखंड महासभा के प्रदेश अध्यक्ष प्रवीण पुरोहित, अशोक कुमार आदि लोग उपस्थित रहे।

One thought on “राज्यपाल ने किया ललित शौर्य के बाल कहानी संग्रह का लोकार्पण

  • August 19, 2019 at 11:31 am
    Permalink

    भाई ,राज्यपाल जी द्वारा आपकी बाल साहित्य कृति के लोकार्पण का समाचार पढ़कर हार्दिक प्रसन्नता हुई। आप इसी तरह सहित्य के क्षेत्र में आगे बढ़ते रहें। हार्दिक मंगलकामनाएं।
    ● राजकुमार जैन राजन, आकोला, राजस्थसन

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *