डुमरिया में आपके प्रशासन आपके द्वार मेगा शिविर

डुमरिया के सेवरा में मेगा प्रशासनिक कैंप का किया गया आयोजन डुमरिया में आपके प्रशासन आपके द्वार मेगा शिविर में

Read more

मानवता का पुनर्जन्म

राजकुमार जैन राजन, चित्तौड़गढ़, राजस्थान आत्मा के अंधेरे कौनों में चेतना की लौ कहीं धुंधली हो गई है मंदिर में

Read more

सपना

देवानंद राय कुछ सपनों को अपना करने अपनों के चेहरे पर मुस्कान भरने जग में अपना भी नाम करने थोड़ा

Read more

शिव वंदन

व्यग्र पाण्डे, गंगापुर सिटी, स.मा. (राज.) हे सत्य सनातन हे अनंत हे शिव भोले हे जगत-कंत हे नीलकंठ हे गंगाधर

Read more

मंजिल यह अधूरी लगती है

अशोक राय वत्स, रैनी मऊ (उत्तरप्रदेश) हम दौड़ रहे हैं बचपन से,पर मंजिल यह अधूरी लगती है, हर सुबह सवेरा

Read more

आधुनिक मशीनी जीवनशैली

कुमारी अर्चना “बिट्टू”, बिहार दिन पे दिन मैं आलसी हो रहा हूँ आसक्ती के धोड़े पर चढ़ गया हूँ! नींद

Read more

वो अब बहुत गुमान में है

शिवांकित तिवारी “शिवा” युवा कवि एवं लेखक नदी अब बहुत गुमान में है, कि वो आजकल उफ़ान में है, ग़रीब

Read more

ये कैसी आजादी

कल्पना सिंह, रीवा (मध्य प्रदेश) अनगिनत शहीदों की शहादत, इस दिन रंग ले आई थी। तोड़ गुलामी की जंजीरें हमने

Read more

जज्बात भरे खत

आरती त्रिपाठी, सीधी (मध्यप्रदेश) पुरानी किताब के पन्नों से लिपटे वो पुराने खत कितनी कहानियाँ खुद में दफन किये महकते

Read more

मुखमंडल

नेहा यादव, लखनऊ, उत्तरप्रदेश तेरी मुखमंडल शोभा धुंधली क्यूं नज़र आयी है, तेरे मुखविवर पर असमंजसता क्यूँ छायी है, तेरे

Read more